Monday, 11 November 2019

सौंदर्य की साधना।

सौंदर्य की साधना
Pic credit: Pinterest.










सौंदर्य की साधना।

काली घटा है घनघोर,
बिजली का भी है शोर,
सियाह-रात ऐसी है कि,
मन व्याकुल है विभोर।

पंख नहीं है उड़ने को,
होश नहीं है चलने को,
वो लथपथ है हुआ बेहाल,
साँस आयी है रुकने को।

पथ पर चलना गिरकर उठना,
करता रहा सौंदर्य की साधना,
आँसू उसके ऐसे बहते,
जैसे कोई गिरता हुआ झरना।

कर्म की ज्योत जलाने को,
निकला था भवसागर पार,
भाग्य की रेखा ऐसी पलटी,
खत्म हो गया जीवन संसार।

©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए।





Saturday, 9 November 2019

अयोध्या पधारे प्रभु श्रीराम।

Ram mandir jai shree ram








फिर से होगा अब कल्याण,
अयोध्या पधारे प्रभु श्रीराम।

धैर्य की अग्निपरीक्षा थी,
प्रभु की यही इच्छा थी।

राम को काल्पनिक बताने वाले,
लोग थे भोले और नादान।

असत्य पर सत्य की विजय हुई,
अब होगा भव्य मंदिर निर्माण।

श्रीराम करेंगे सबका बेड़ा पार,
प्रेम से बोलो जय श्री राम।

आप सभी को मंदिर निर्माण की बहुत सारी शुभकामनाएँ।

©नीतिश तिवारी।

ये भी पढ़िए: कितने राम आएँगे।

ये भी देखिए।










Monday, 4 November 2019

ये घड़ी है सुखद मिलन की।

Romantic poem

Pic credit : Pinterest.










सम्बन्ध विच्छेद
करोगे तुम तो
प्रेम प्रगाढ़
कैसे होगा।

पूनम की रात
आ गयी है
ये जिस्म 
एक जान
कैसे होगा।

तुम्हें जो भी
शिकायत है
उसे टाल दो
थोड़ी देर को।

ये शब आज
बर्बाद ना करो
रुक जाने दो
घड़ी के फेर को।

हठ लगाए बैठे हो
ना जाने कौन सी
ज़ुल्म-ओ-सितम की
मैं उसे भी सुन लूँगा
पर ये घड़ी है
सुखद मिलन की।

कितनी सदियाँ बीत गयी
उसके बाद तो आये हो
नखरे भी तेरे सह लूँगा
क्योंकि तुम ही
 रूह में समाये हो।

©नीतिश तिवारी।





Sunday, 3 November 2019

उसे पा लूँगा एक दिन।

Ishq shayari

Pic credit: Pinterest.








मोहब्बत मेरी अधूरी है तो क्या, अभी खत्म तो नहीं हुई,
साँस बाकी है अभी उसमें, अभी वो दफ़्न तो नहीं हुई,
उसे पा ही लूँगा एक दिन इतना यकीन है मुझे,
अभी तो कुछ शब्द लिखे हैं, अभी ये गीत नज़्म तो नहीं हुई।

Mohabbat meri adhoori hai toh kya, abhi khatm to nahi huyi,
Saans baki hai abhi usmen, abhi wo dafn toh nahin huyi,
Use paa hi lunga ek din itna yakin hai mujhe,
Abhi toh kuch shabd likhe hain, abhi ye geet nazm toh nahin huyi.

©नीतिश तिवारी।

ye bhi dekhiye.



Friday, 1 November 2019

Jab Ishq hua tumse.

Ishq shayari

Pic credit: Pinterest.






मैं इश्क़ करके
तुमसे किस्से 
बनाना चाहता था।

पर इश्क़ हुआ
जब तुमसे
तुम तो कहानी
बन गयी।

Main ishq karke
Tumse kisse
Banana chata tha.

Par ishq hua
Jab tumse
Tum toh kahani
Ban gayi.

©नीतिश तिवारी।

ye bhi padhiye: इंद्रधनुष बन जाओगे क्या!


Wednesday, 30 October 2019

इबादत मैं करूँ सिर्फ तेरी।

Indian girl
Pic credit : Google.










ख्वाब भी तेरे, 
रौशनी भी तेरी,
हुस्न भी तेरा, 
तिश्नगी भी तेरी।
एक मैं ही अधूरा,
शाम-ए-महफ़िल में,
ज़ुल्फ़ भी तेरी,
सादगी भी तेरी।
तू मिले या ना मिले,
इबादत मैं करूँ,
अब सिर्फ तेरी।


Khwab bhi tere,
Raushni bhi teri,
Husn bhi tera,
Tishnagi bhi teri,.
Ek main hi adhoora,
Shaam-ae-mehfil mein,
Zulf bhi teri,
Saadgi bhi teri.
Tu mile ya na mile,
Ibadat main karun,
Ab sirf teri.

©नीतिश तिवारी।

Sunday, 27 October 2019

Happy Diwali 2019

Happy Diwali 2019








दीप उत्सव आया है,
रौशनी की करो तैयारी,
प्रेम स्नेह से प्रकाशित हो,
ऐसी ही दुनिया हो तुम्हारी।

Deep utsav aaya hai,
Raushni ki karo taiyari,
Prem sneh se prakashit hi,
Aisi ho duniya tumhari.

©नीतिश तिवारी।

आप सभी को दीपावली को ढेर सारी शुभकामनाएँ।

Happy Diwali.

Friday, 25 October 2019

शायरी का असर देखिए।

Happy Diwali from nitish tiwary










मेरे ख्वाब हक़ीक़त में बदल रहे थे,
कुछ लोग दूसरी तरफ चल रहे थे,
मेरी शायरी और गज़ल का असर देखिए,
वो मेरे हर्फ़ हर्फ़ से मचल रहे थे।

Mere khwab haqiqat mein badal rahe the,
Kuch log doosri taraf chal rahe the,
Meri shayari aur ghazal ka asar dekhiye,
Wo mere harf harf se machal rahe the .

©नीतिश तिवारी।

Wednesday, 23 October 2019

मैं तेरे लिए ही जी रहा हूँ।

Love








पहले तो तुमसे प्यार हुआ,
फिर तुम मेरी मोहब्बत बनी,
और अब मैं तुमसे,
इश्क़ कर रहा हूँ,
मैं तेरे लिए ही,
जी रहा हूँ।

Pahle toh tumse pyar hua,
Fir tum meri mohabbat bani,
Aur ab main tumse,
Ishq kar raha hoon,
Main tere liye hi,
Jee raha hoon.

©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए।



Sunday, 20 October 2019

'Jacqueline I am coming' is the obsession of Love.

Jacqueline I am coming' is the obsession of Love.











'Jacqueline I am coming' is the obsession of Love. 

नमस्कार दोस्तों, हाल ही में मैंने एक फ़िल्म देखी जिसका नाम है- Jacqueline I am coming . अब आप सोच रहे होंगे कि ये ग़ज़ल और शायरी लिखने वाला बंदा फ़िल्म का review क्यों लिख रहा है । इसका कारण ये है कि ये अपनी परिवार की फ़िल्म है। जी हाँ सही पढ़ा आपने, ये अपने परिवार की फ़िल्म है क्यूँकि  मेरे मामा इस फ़िल्म के लेखक और निर्देशक हैं। बड़े मामा Pinku Dubey ने इस फ़िल्म को लिखा है और इन्हीं  के अनुज Banty Dubey ने फ़िल्म को निर्देशित किया है। बरसों तक Mumbai में संघर्ष करने के बाद का सुखद परिणाम इस फ़िल्म के रूप में आया है। 
किसी God father के बिना और किसी बड़े production house के support के बिना भी इस फ़िल्म का सफल रिलीज इस बात का प्रमाण है कि चाहे परिस्थितियाँ  कितनी भी प्रतिकूल हों, अगर आप मेहनत करेंगे तो मंजिल जरूर मिल जाएगी।

Director banty dubey
Director Banty Dubey(middle) at BVFF



If we talk about star cast of the movie तो इसमें Raghuvir Yadav मुख्य भूमिका में हैं। इनकी पत्नी का रोल प्ले किया है Diiva Dhanoya ने । साथ ही सह अभिनेता के रूप में Shakti Singh और Pinku Dubey भी हैं। 

अभिनय की बात करें तो Raghuvir Yadav ने अपने जीवन की one of the best performance दी है।  Director ने इन्हें अपना टैलेंट शो करने का भरपूर मौका दिया है। चूँकि ये लीड रोल में हैं और कहानी भी इन्हीं की है तो फिल्म के कई सारे scene शानदार बन पड़े हैं। फ़िल्म की अदाकारा ने भी अच्छा अभिनय किया है। बाकी सह कलाकार की बात करें तो सबने अपना रोल बखूबी निभाया है। हालाँकि सह कलाकारों की भूमिका और अच्छी हो सकती थी। 

फ़िल्म की कहानी बहुत रोचक और अलग है। काशी तिवारी जो कि 40 साल के हैं और सरकारी मुलाज़िम है उन्हें एक क्रिश्चियन लड़की जैकलीन से प्यार हो जाता है। बचपन में अनाथ हो जाने के बाद से काशी अकेले हो गए थे। कई साल तक कोई नहीं मिला। लेकिन चर्च में जब पहली बार काशी ने जैकलीन को देखा तो लगा कि यही वो लड़की है जो उसके अकेलेपन को भर सकती है। बंज़र से पड़े उसके जीवन में प्यार की बारिश करके उसे जीवित कर सकती है। लेकिन हक़ीक़त ये भी है कि किसी के चाहने मात्र से कोई आपका नहीं हो जाता। यही काशी के साथ भी हुआ। दीवानगी की हद तक जाकर अपने प्यार को पाने का अपना अलग ही मजा होता है। लेकिन सच ये भी है कि बिना संघर्ष कोई प्रेम कहानी मुक़म्मल नहीं होती। 

प्यार में दीवानगी की फ़िल्म तो आपने बहुत देखी होगी, लेकिन प्यार के लिए दीवानगी और संघर्ष देखना हो तो जरूर देखिए- Jacqueline I am coming .

फ़िल्म से जुड़े सभी लोगों को मेरी तरफ से बधाई और शुभकामनाएँ। मेरी तरफ से फ़िल्म को मिलते हैं 3.5/5  स्टार।


©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए।