Latest

6/recent/ticker-posts
Showing posts from September, 2020Show all
मैंने उनसे फ़ासला कर लिया है।
ख़त में महकते हुए फूल मज़ार तक पहुँच गए।
अपने दूर हो रहे हैं।
वस्ल का इंतज़ार मत कर।
इश्क़ का नाम अगर भूलना होता तो...
वक़्त का हिसाब देखो।
जब सीख लेना इश्क़।
तुझमें मेरा कुछ नहीं।
उसको तुम बता देना...