Friday, 15 March 2019

Ishq aur Kashmir.













Pic credit : Google.






Chaal usne aisi chali ki main shatranj ka nazeer ho gaya,
Bachne ki koshish kiya magar ishq mera kashmir ho gaya.

चाल उसने ऐसी चली कि मैं शतरंज का वज़ीर हो गया,
बचने की कोशिश किया मगर  इश्क़ मेरा कश्मीर हो गया।
©नीतिश तिवारी।


8 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (17-03-2019) को "पन्द्रह लाख कब आ रहे हैं" (चर्चा अंक-3277) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरी रचना शामिल करने के लिए शुक्रिया।

      Delete
  2. वाह !!बहुत खूब ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  3. वाह क्या बात है ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद

      Delete