Latest

6/recent/ticker-posts

मैंने तेरी गली में सजदा कर लिया।

 

Two line shayari
Pic credit: unsplash 

















Two liners hindi poetry and shayari by nitish tiwary.


और फिर कोई मुसाफ़िर हो चला,

और फिर किसी की ख्वाहिशें अधूरी रह गईं।


Aur phir koi musafir ho chala,

Aur phir kisi ki khwahishen adhuri rah gayin.


तुम जानते थे मेरे हिस्से दर्द आएगा,

फिर भी जाते हुए मुस्कुरा कर गए।


Tum jante the mere hisse dard aayega,

Phir bhi jate huye muskura kar gaye.


तमाशबीन हुए पड़े हैं लोग यहाँ,

मेरी बर्बादी बहुत हसीन जो है।


Tamashbeen huye pade hain log yaha,

Meri barbadi bahut haseen jo hai.


खुदा का घर बहुत दूर था,

मैंने तेरी गली में सजदा कर लिया।


Khuda ka ghar bahut door tha,

Maine teri gali mein sajda kar liya.


©नीतिश तिवारी।






Post a Comment

1 Comments

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।