bachpan se hi bewafa ho ya..






बारिश का शौक है तो मेरे आँसुओं की हिफ़ाज़त करना,
अब किसी और को दिल में बसाए हो तो उसकी ठीक से निज़ामत करना,
साँसें रुक रुक कर चल रही है, पता नहीं कब वक़्त आ जाए,
मेरे मरने के बाद अपने यार के साथ तुम दावत करना.

barish ka shauk hai toh mere aansuon ki hifazat karna,
ab kisi aur ko dil mein basaye ho toh uski thik se nizamat karna,
saansen ruk ruk kar chal rahi hai, pata nahi kab waqt aa jaye,
mere marne ke baad tum apne yaar ke saath dawat karna.


दिल तोड़ने का हुनर तुमने कहाँ से सीखा है,
बचपन से ही बेवफा हो या ये जवानी का हिस्सा है,
सारी शर्तें क़बूल की फिर भी छोड़कर जा रहे हो,
बस इतना तो बता दो कि किस बात का गुस्सा है.

dil todne ka hunar tumne kahan se seekha hai,
bachpan se hi bewafa ho ya ye jawani ka hissa hai,
saari sharten qabool ki phir bhi chhodkar ja rahe ho,
bas itna toh bata do ki kis baat ka gussa hai.

©नीतिश तिवारी।

Ye bhi dekhiye:






 

Comments

Post a Comment

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।

ये भी देखिए।

Who is real jabra Fan? Gavrav or me-My letter to Mr. Shah Rukh Khan.

शायरी संग्रह

Ishq mein pagal ho jaunga.

तेरी मोहब्बत ने शायर बना दिया।

Gazal- Ishq Mein Awara

शाहरुख खान मेरे गाँव आये थे।

चुनावी महाभारत 2019- कृष्ण कहाँ हैं? अर्जुन पुकार रहे!

सोलहवाँ सोमवार।

Ishq phir se dubaara kar liya.

खुद को राजा तुम्हें रानी कहूँगा।