Saturday, December 26, 2020

Dard shayari- मासूम मोहब्बत का क़त्ल किया था उसने।

Dard hindi urdu shayari






सिर्फ़ अपनी हिज़्र के ख़ातिर वस्ल किया था उसने,
रक़ीब के जीस्त में अपना दख्ल दिया था उसने,
तहक़ीकात करने पर बोलने लगे कि यही रिवायत है,
मेरी मासूम मोहब्बत का कुछ यूँ क़त्ल किया था उसने।

Sirf apani hizr ke khatir wasl kiya tha usne,
Raqeeb ke jeest mein apna dakhal diya tha usne,
Tahqiqaat karne par bolne lage ki yahi riwayat hai,
Meri masoom mohabbat ka kuch yun katl kiya tha usne.

©नीतिश तिवारी।




 

8 comments:

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।