Saturday, August 22, 2020

भोजपुरी गाना-- गाँव जवार हमरा भूलल ना भुलावे ला।

 

Village
Pic credit: Pinterest.




Bhojpuri Song.

गाँव जवार हमरा भूलल ना भुलावे ला,
गऊवें के हावा पानी शहर तक आवे ला,- 2
सभे लोगन कहत बाड़े लौट के आ जा,
गाँव के साँझ और भोर बुलावे ला। - 2

बचपन में बाबूजी देवत रहन पईसा,
मेलवा से लान के खाईत रही अरिसा।
घरवा के हालत ख़ातिर छूट गईल गाँव हो,
गाँव के छोरा होइलक शहर के जईसा।

गाँव जवार हमारा....

सरसो के खेत और नदिया के पानी,
करत रही हम रोजे बागवानी ( gardening)
गेहूँ कटा गईल रहरो (अरहर) बा आईल,
सभे बोलावत बाड़े करे के खलिहानी।

गाँव जवार हमारा.....

©नीतिश तिवारी। 

कविता सुनिए।

क्यों गाँव मेरा वीरान हो गया?


14 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (23-08-2020) को    "आदिदेव के नाम से, करना सब शुभ-कार्य"   (चर्चा अंक-3802)    पर भी होगी। 
    --
    श्री गणेश चतुर्थी की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।  
    सादर...! 
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'  
    --

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  2. आपकी लिखी रचना "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" आज शनिवार 22 अगस्त 2020 को साझा की गई है.... "सांध्य दैनिक मुखरित मौन में" पर आप भी आइएगा....धन्यवाद!

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  3. आँचलिक भाषा में सुन्दर सृजन।

    ReplyDelete
  4. बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर रचना

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  6. बड़ा बनहिया बा हो....

    ReplyDelete
  7. बहुत नीक बा

    ReplyDelete
    Replies
    1. ठीके कहली रउवा। धन्यवाद।

      Delete

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।