Monday, April 6, 2020

दर्द में भी मुस्कुराते रहे।

Shayari

Pic credit : Twitter.




रूठे तुमसे मगर हम मुस्कुराते रहे,
ज़ख्म पर अपने मरहम लगाते रहे,
दर्द में भी कैसे जीना चाहिए,
ये बात लोगों को हम समझाते रहे।

Roothe tumse magar hum muskurate rahe,
Zakhm par apne marham lagaate rahe,
Dard mein bhi kaise jeena chahiye,
Ye baat logon ko hum samjhate rahe.

©नीतिश तिवारी।


2 comments:

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।