Thursday, April 2, 2020

बस ख़्वाब में रह जाता है।

शायरी बस ख़्वाब में रह जाता है।
Pic credit : Twitter.






कुछ दिल में रह जाता है,
कुछ दिमाग में रह जाता है,
जो दोनों जगह नहीं रहता,
बस ख़्वाब में रह जाता है।

Kuch dil mein rah jata hai,
Kuch dimaag mein rah jata hai,
Jo dono jagah nahi rahta,
Bas khwab mein rah jata hai.

किसकी बातें करते हो,
किसका इंतज़ार है तुझे,
छोड़कर तो चले गए थे,
अब कहते हो प्यार है मुझे।

Kiski baaten karte ho,
Kiska intzaar hai tujhe,
Chhodakar to chale gaye the,
Ab kahte ho pyar hai mujhe.

©नीतिश तिवारी।

ये भी देख सकते हैं।




2 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    श्री राम नवमी की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद सर। आपको भी रामनवमी की शुभकामनाएं।

      Delete

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।