Monday, April 13, 2020

शहद को शराब कर दिया।
























Pic credit: Pinterest.






मोहब्बत ऐसी की शहद को शराब कर दिया,
बचपन में तो अच्छे थे, जवानी ने खराब कर दिया,
तुम बार बार मुझसे इश्क़ करने को कहते हो,
एक ही लड़की ने बुढ़ापे तक का हिसाब कर दिया।

Mohabbat aisi ki shahad ko sharaab kar diya,
Bachpan mein to achhe the, jawani ne kharaab kar diya,
Tum baar baar mujhse ishq karne ko kahte ho,
Ek hi ladki ne budhape tak ka hisaab kar diya.

Read Also : My letter for Mr. Shah Rukh Khan.

©नीतिश तिवारी।

8 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल बुधवार (15-04-2020) को   "मुस्लिम समाज को सकारात्मक सोच की आवश्यकता"   ( चर्चा अंक-3672)    पर भी होगी। -- 
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है। 
    -- 
    कोरोना को घर में लॉकडाउन होकर ही हराया जा सकता है इसलिए आप सब लोग अपने और अपनों के लिए घर में ही रहें।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।  
    --
    सादर...! 
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' 

    ReplyDelete
    Replies
    1. रचना शामिल करने के लिए शुक्रिया।

      Delete
  2. बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
  3. सुभान अल्लाह!! वाह!!!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  4. "एक ही लड़की ने बुढ़ापे तक का हिसाब कर दिया"
    बहुत खुब लिखा है आपने...

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।