Thursday, 19 March 2020

तुम चाँद को देखो, हम तुम्हें देखें।

तुम चाँद को देखो, हम तुम्हें देखें।
Pic credit : Google.





होश में रहने की हिदायत मुझे देते हो,
और ज़ुल्फ़ खोलकर कयामत तुम करते हो।

Hosh mein rahne ki hidayat mujhe dete ho,
Aur zulf kholkar kayamat tum karte ho.

आगाज़ नया, अंदाज़ पुराना, ऐसा हो हमारा अफ़साना,
तुम चाँद को देखो, हम तुम्हें देखें, ढूँढ लो प्यार का नया बहाना।

Aagaz naya, andaz purana, aisa ho humara afsana,
Tum chand ko dekho, hum tumhen dekhen, dhoondh lo pyar ka naya bahana.

©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए।



8 comments:

  1. बहुत सुंदर सृजन
    प्रेम का खूबसूरत अहसास

    पढ़ें- कोरोना

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete
  2. वाह
    क्या बात है.
    मस्ती छाई है हर लफ्ज में.

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद।

      Delete