Thursday, March 12, 2020

ऐसा गुनाह किया हमने।

Dard shayari

Pic credit: Google.




सजा मालूम थी, फिर भी ऐसा गुनाह किया हमने,
शहज़ादी से इश्क़ करके खुद को तबाह किया हमने,
यूँ तो बहुतों की नजर थी हमारी शख्सियत पर लेकिन,
सिर्फ़ उनके ही रुख़सार की तरफ़ निगाह किया हमने।

Saja maloom thi, phir bhi aisa gunah kiya humne,
Shahzadi se ishq karke khud ko tabaah kiya humne,
Yun toh bahoton ki najar thi humari shakhsiyat par lekin,
Sirf unke ki rukhsaar ki taraf nigaah kiya humne.

©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए।




2 comments:

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।