Saturday, February 29, 2020

शायरी बर्बादी वाली।

Shayari barbadi wali
Photo credit: Pinterest.







कहानी खत्म हो रही थी किरदार मर रहे थे,
हम टूटे घर में थे लोग चौराहे से गुजर रहे थे,
घर जल गया था फिर भी कुछ बेरहम थे जो,
मेरी बर्बादी देखने के बाद भी वो सँवर रहे थे।

Kahani khatm ho rahi thi kirdaar mar rahe the,
Hum toote ghar mein the log chaurahe se gujar rahe the,
Ghar jal gaya tha phir bhi kuch beraham the jo,
Meri barbadi dekhne ke baad bhi sanwar rahe the.

©नीतिश तिवारी।

ये भी देखिए:


2 comments:

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।