Friday, 29 November 2019

Tum kya jano

Pic credit : Pinterest.








तुम क्या जानों आशिक़ कैसे दिल को समझाते हैं,
दिल टूटने पर आँसुओं की बारिश से भींग जाते हैं,
लोग बेवफ़ाई के चर्चे कितने भी करें मगर,
उस बेवफ़ा का नाम कभी जुबाँ पर नहीं लाते हैं।

Tum kya jano ashiq kaise dil ko samjhate hain,
Dil tootne par aasuon ki barish se bheeg jate hain,
Log bewfai ke charche kitne bhi karen magar,
Us bewfa ka naam kabhi juban par nahin laate hain.

©नीतिश तिवारी।

6 comments:

  1. जी नमस्ते,

    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (३०-११ -२०१९ ) को "ये घड़ी रुकी रहे" (चर्चा अंक ३५३५) पर भी होगी।
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।

    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    आप भी सादर आमंत्रित है
    ….
    अनीता सैनी

    ReplyDelete
    Replies
    1. रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद।

      Delete
  2. बहुत सुंदर प्रस्तुति

    ReplyDelete