Friday, 6 September 2019

My first book- फिर तेरी याद आई।
























पिछले 6 वर्षों से अधिक समय तक ब्लॉग पर लिखते हुए
कभी ख्याल ही नहीं आया कि एक किताब भी लिखूँ। इस किताब में मैंने अपनी चुनिंदा शायरी, ग़ज़ल, कविता और लघुकथा को संग्रहित करने का प्रयास किया है। लेखन क्षेत्र में उत्साह बढ़ाने वाले मित्रों का शुक्रिया। 

मैं आभार व्यक्त करता हूँ उन लोगों का भी जो मेरे ब्लॉग को निरंतर पढ़ते आये हैं।  अभी के लिए बस इतना ही, बाकी एक फिक्शन उपन्यास लिख रहा हूँ। उसके लिए आपका आशीर्वाद चाहूँगा।

बड़े हर्ष के साथ सूचित कर रहा हूँ कि मेरी पहली पुस्तक अमेज़न पर उपलब्ध है। आप यहाँ से खरीदकर पड़ सकते हैं। पढ़ने के बाद review जरूर पोस्ट करें। धन्यवाद।

©नीतिश  तिवारी।

4 comments:

  1. बहुत-बहुत शुभकामनाएँ आदरणीय नीतीश जी। सदैव बढते रहें ।

    ReplyDelete
  2. बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाएं

    ReplyDelete