Monday, 23 September 2019

ख्वाहिश तुम्हें पाने की।


Hindi romantic shayari




ख्वाहिश तुम्हें पाने की,
आसमाँ पर छा जाने की,
यही ज़िन्दगी का मक़सद,
अपना तुम्हें बनाने की।

Khwahish tumhen pane ki,
Aasman par chha jane ki,
Yahi zindgi ka maqsad,
Apna tumhen banane ki.

©नीतिश तिवारी।

10 comments:

  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (24-09-2019) को     "बदल गया है काल"  (चर्चा अंक- 3468)   पर भी होगी।--
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद।

      Delete
  2. मकसद पूरा होगा अगर प्रेम प्रयास होगा ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी शुक्रिया आपका।

      Delete
  3. Lovely and quite surrender in few words :)

    ReplyDelete