Tuesday, 16 July 2019

बेवफ़ाई ने मशहूर कर दिया।

















Pic credit : Pinterest.









मेरे इश्क़ ने तुम्हें जन्नत का हूर कर दिया,
जमाने भर के सामने हमें मजबूर कर दिया,
अफ़साना अंजाम तक ना पहुँचा तो क्या,
तुम्हारी बेवफाई ने मुझे मशहूर कर दिया।

Mere ishq ne tumhen jannat ka hoor kat diya,
Jamane bhar ke samne humen majboor kar diya,
Afsana anzaam tak naa pahuncha to kya,
Tumhari bewfai ne mujhe mashhoor kar diya.

©नीतिश तिवारी।

6 comments:

  1. वाह बहुत खूब 👌👌

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल बुधवार (17-07-2019) को "गुरुसत्ता को याद" (चर्चा अंक- 3399) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    गुरु पूर्णिमा की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत बहुत धन्यवाद सर।

      Delete
  3. वाह बहुत खूब

    ReplyDelete