हम भी हैं शायर



मचलता है जिस्म तो मिलता है रूह को  सुकून ,
इश्क़ वो दरिया है जिसमे गोते लगाते  हैं सभी। 

हर बार चला देता है वो अपने तरकश का तीर ,
कम्बख्त मेरा ही दिल होता है उसके निशाने पर। 

आ जाना मेरे ख्वाबों में आज भी ,
दीदार कि तलब एक बार फिर जगी है। 

अपनी आँसुओं से मिटा देते तेरी तस्वीर को ,
पर कम्बख्त निकलता भी नहीं तेरी याद के बिना। 

Comments

  1. सुन्दर व सशक्त नज़्म है......बधाई ....

    ReplyDelete
  2. Very Interesting Kahani Shared by You. Thank You For Sharing.
    प्यार की बात

    ReplyDelete
  3. बहुत खुबसूरत ग़ज़ल !!

    ReplyDelete
  4. काफी सुंदर चित्रण ..... !!!
    कभी हमारे ब्लॉग पर भी पधारे.....!!!
    @
    Sanjay Bhaskar
    http://sanjaybhaskar.blogspot.in/

    ReplyDelete

Post a Comment

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।

ये भी देखिए।

Who is real jabra Fan? Gavrav or me-My letter to Mr. Shah Rukh Khan.

शायरी संग्रह

Ishq mein pagal ho jaunga.

तेरी मोहब्बत ने शायर बना दिया।

Gazal- Ishq Mein Awara

शाहरुख खान मेरे गाँव आये थे।

Ishq phir se dubaara kar liya.

चुनावी महाभारत 2019- कृष्ण कहाँ हैं? अर्जुन पुकार रहे!

सोलहवाँ सोमवार।

खुद को राजा तुम्हें रानी कहूँगा।