Monday, 23 July 2018

बेवफाई का हरजाना।
























उसकी बेवफाई का मुझे हरजाना चाहिए,
उसके जैसा महबूब मुझे रोज़ाना चाहिए।
अभी तुम नादान हो कुछ तज़ुर्बा कर लो,
तुम्हें भी मोहब्बत को कभी आजमाना चाहिए।

©नीतिश तिवारी।

No comments:

Post a Comment