Skip to main content

शायरी संग्रह | Shayari Collection.

शायरी संग्रह | Shayari Collection.














हर शाख पे बैठी थी उम्मीदें पैर पसार,
कब टूट गयी वो डाली पता ही ना चला.

Har shaakh pe baithi thi ummiden pair pasar,
Kab toot gayi wo daali pata hi naa chala.

ना खुद पर यकीन है ना तुझ पर ऐतबार है,
इस मोहब्बत ने कर दिया जीना दूस्वार है,
कशमकश मे है हालात अब मेरे,
ना तुम ही गैर हो ना अपनों से ही प्यार है.

Na khud par yakin hai na tujh par aitbaar hai,
Iss mohbbat ne kar diya jeena dushwaar hai,
Kashmakash mein hai haalat ab mere,
Na tum hi gair ho na apno se hi pyaar hai.

राही को मंज़िल नही, कश्ती को साहिल नही,
किसी के तुम नही, किसी के हम नही,
अजीब दास्तान है इस बेदर्द जमाने का,
कोई दिल में नही, कोई दिल से नही.

Raahi ko manzil nahin, kashti ko sahil nahi,
Kisi ke tum nahi, kisi ke hum nahi,
Ajeeb daastaan hai is bedard jamane ka,
Koi dil mein nahi koi dil se nahi.

ना देखा ऐसा रूप ना देखी ऐसी श्रिगार,
तेरे चेहरे की हँसी मे है खुशियाँ अपार,
सच हो गये मेरे सपने अब तुम पर है ऐतबार,
लोग कहते हैं की यही है सच्चा प्यार.

Na dekha aisa roop na dekhi aisi shringaar,
Tere chehre ki hansi mein hai khushiyan apaar,
Sach ho gaye mere sapne, ab tum par hai aitbaar,
Log kahte hain ki yahi hai sachcha pyaar.

अगर तेरी नज़र है कातिल, तो शिकार हम होंगे,
अगर तेरा बदन है संगमरमर, तो खरीदार हम होंगे,
अगर तू है कोई शहज़ादी, तो पहरेदार हम होंगे,
अगर तेरी मोहब्बत मे है धोखा,तो तेरा प्यार हम होंगे.

Agar teri nazar hai qaatil, toh shikaar hum honge,
Agar tera badan hai sangemarmar toh khareedar hum honge,
Agar tu hai koi shehzaadi, toh pahredaar hum honge,
Agar teri mohbbat mein hai dhokha toh tera pyaar hum honge.

©नीतिश तिवारी।

Comments

  1. बहुत सुंदर लिखते हैं आप | पर जैसा की देख रहा हूँ, आपके पोस्ट मे कहीं कोई कमेंट नहीं है |
    आपको कुछ सुझाव देना चाहूँगा |
    1. अपने ब्लॉग का कोई अच्छा सा नाम चुन के रखे हिन्दी मे |
    2. मैंने आपका ब्लॉग फॉलो किया है, आप भी मेरा करें |
    3. आप स्वयं भी ज्यादा से ज्यादा ब्लॉग फॉलो करें |
    4. दूसरे के ब्लॉग मे भी जाए और ज्यादा से ज्यादा कमेंट करें |
    5. कमेन्ट से वर्ड वेरिफिकेशन हटा दें | और हो सके तो moderation भी हटा दें |

    मैंने आपके ब्लॉग को अपने संकलक ब्लॉग"दीप" मे शामिल किया है, ताकि ज्यादा लोगो तक पहुंचे | आप भी वहाँ पधारें |

    ReplyDelete
  2. इस पोस्ट की चर्चा आज सोमवार, दिनांक : 21/10/2013 को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}" चर्चा अंक -31पर.
    आप भी पधारें, सादर ....नीरज पाल।

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए धन्यवाद.
      आपका सहयोग आगे भी अपेक्षित रहेगा.

      Delete
  3. आप अच्छा लिखते हैं \प्रदीप जी कि सलाह पर अमल करें ,अच्छा होगा |
    नई पोस्ट महिषासुर बध (भाग तीन)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप सब गुणी जनों का आशीर्वाद ही तो है जो मुझे निरंतर और बेहतर लिखने के लिए प्रेरित करता है. बहुत बहुत धन्यवाद.

      Delete
  4. बहुत सुंदर.प्रदीप जी का सलाह उचित है.
    नई पोस्ट : धन का देवता या रक्षक

    ReplyDelete
  5. bahut acha likha hua hai bt ek writer me jo chij hota use aur develop kare . aapki kavita sabhi age ke logo ko acha lage. kuch aisa kare jisse adhik se adhik log aapki blog ko follow kare aur aapka post padhe. .thankyu to your blog. aapka poem mere sabhi dosto ne bahut pasand kiya.

    ReplyDelete

Post a Comment

पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएँ और शेयर करें।

Subscribe To My YouTube Channel

Popular posts from this blog

Who is real jabra Fan? Gavrav or me-My letter to Mr. Shah Rukh Khan.

To, My inspiration Shri  Shah Rukh Khan Ji Namaste I believe you’re enjoying your success as always. Many congratulations for FAN but I’m quite disappointed as far as collection of the movie is concern. Your work in fan is remarkable sir. I’m writing this letter just to express my love for you. You’ve inspired millions of people around the world. I’m one of them too. I love you not because your net worth is $600 M and you are biggest superstar in world, I love you because your life has given a reason to dream for a middle class youth like me. You’ve shown us the path of success with your hard work, commitment and dedication. The way you have achieved success in your life is truly phenomenal and inspirational. Sir, I come from a lower middle class family where talking about your dream is just like building castles in air. But somehow I’ve managed to dream big in my life. And I can say it with full pride that credit goes to you sir. When I was a child,

खुद को राजा तुम्हें रानी कहूँगा।

Pic credit: Google. प्रेम में साथ दोगी तो मैं खुद को राजा और तुम्हें  अपनी रानी कहूँगा। अगर जुदा हो गयी मुझसे तो खुद को फ़कीर फिर भी तुम्हें रानी कहूँगा। मेरा प्रेम इतना कमजोर नहीं है कि तुम्हें दी हुई रानी की उपाधि तुमसे छीन लूँ। Prem mein saath dogi Toh main khud ko raja Aur tumhen Apni rani kahunga. Agar juda ho gayi Mujhse toh khud ko Fakir phir bhi Tumhen rani kahunga. Mera prem itna kamjor Nahi hai ki tumhen di hui Rani ki upadhi Tumse chhin loon. ©नीतिश तिवारी।

Ishq mein pagal ho jaunga.

Image courtesy - Google. यूँ ना देखो ऐसे, मैं घायल हो जाऊँगा, तेरे इस हुस्न का, मैं कायल हो जाऊँगा, मेरे गीतों की गुनगुन सुनाई नहीं देती तो, तेरे इन पैरों का, मैं पायल हो जाऊँगा। अब के बरस प्यासी मत रहना तुम, सावन का नया, मैं बादल हो जाऊँगा। अश्कों को गिरने ना दूँगा पलकों से, तेरी इन आँखों का, मैं काजल हो जाऊँगा। सजने को जी करे जब तेरा तो बता देना, तेरी इन बाहों का, मैं आँचल हो जाऊँगा अब कितनी मोहब्बत करेगी रहने दे ना,   इश्क़ में एक दिन, मैं पागल हो जाऊँगा। ©नीतिश तिवारी।