Sunday, 18 March 2018

इनाम मिला है.






बरसों की तड़प का मुझे इनाम मिला है,
इश्क़ में आज मुझे एक मुक़ाम मिला है.

थोड़ा सब्र का लेता तो मुक़ाम भी मिल जाता,
उसकी बेवफाई का मुझे इंतकाम भी मिल जाता।

©नीतिश तिवारी।

Thursday, 1 March 2018

व्यंग--गुलाल, कंगाल, मालामाल।
























किसी ने रंग उड़ाये, किसी ने गुलाल,
नीरव मोदी पैसा उड़ाया, बैंक हुआ कंगाल।

शौचालय,बिजली,घर से किया सबको मालामाल,
सब जगह मोदी जी छाये, कांग्रेस का हुआ खस्ता हाल।

लालू जी की बेल हुई है नामंजूर,
और होली में रहेंगे अपने घर से दूर।

केजरीवाल ने कुमार विश्वाश को दिखाई ऐसी सुनामी,
बन गए वो राजनीति में सबसे कम उम्र के आडवाणी।

होली में भाभी बनाएं मालपुआ, लेकिन हमरा चाही रसपुआ,
बड़कन के लिहीं आशीर्वाद, छोटकन के दिहीं हम दुआ।

होली की शुभकामनाओं के साथ,
आपका 
©नीतिश तिवारी।